Swayam me anekon kamiyan hone ke bavjood mai apne aap se itna pyaar kar sakta hun

to fir doosron me thodi bahut kamiyon ko dekhkar unse ghrina kaisi kar sakta hun-

anmol vachan, Swami Vivekanand Ji


Sunday, 19 March 2017

Ambike Jagdambike Ab Tera Hi Aadhar Hai




अंबिके जगदम्बिके अब तेरा ही आधार है ,
    जिसने ध्याया तुझको मैया , उसका बेड़ा पार है।
       नंगे पग तेरे दर पे मईया अकबर आया,
        सोने  का  छत्र  माँ  उसने  चढ़ाया ।
      पूजा किया माँ उसने तेरी ,तू शक्ति का अवतार है,
    जिसने ध्याया तुझको मैया , उसका बेड़ा पार है ।अंबिके..........

पान  सुपारी  ध्वजा  नारियल लेकर भेंट चढ़ाऊँ ,
हाथ जोड़कर विनती करूँ माँ , तुझको ही मनाऊँ ।
 दर पे आये भक्तों ने बोली जय-जयकार है , 
जिसने ध्याया तुझको मैया उसका बेड़ा पार है।अंबिके.............

                 दर पे खड़े सवाली भर दे ,मेरी झोली खाली ,
                  तेरा वचन न जाये खाली , जय हो मैया शेरां वाली ,
                   कर दे कृपा मेहरां वाली , माता तू बड़ी दयाल है, 
                    जिसने ध्याया तुझको मैया , उसका बेड़ा पार है ।अंबिके..........

 धर्म भवन जागरण में मैया , तुमको आना है,
 सब  भक्तों  ने  मईया  तेरा  दर्शन पाना  है ।
  जल्दी से अब आजा मईया , तेरा इन्तजार है , 
 जिसने ध्याया तुझको मैया , उसका बेड़ा पार है ।अंबिके..................